Get The App

Pregnancy Me Amrud Kha Sakte Hai


 
गर्भावस्था के दौरान प्रत्येक औरत को पोष्टिक खान पान ही लेना चाहिए। यही वजह है की चिकत्सक भी अधिकाधिक फल और हरी सब्जियां खाने की सलाह देते हैं। 

अमरूद के पोषक तत्व - 
अमरूद में प्रोटीन, लिपिड, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, शुगर, कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, फास्फोरस, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी सिक्स, फोलेट इत्यादि पोषक तत्व पाए जाते हैं।  

प्रेगनेंसी में अमरूद खाने के फायदे - 
हमेशा अमरूद को धुल कर खाना चाहिए जिससे कोई कीटाणु आपके शरीर में न पहुंच सके। ध्यान रहे पके अमरूद का ही सेवन करें। गर्भावस्था में अमरू खाने के अनेक फायदे हैं जैसे 

  • अमरूद में पोटेशियम और घुलमशील फाइबर की प्रचूर मात्रा होती है जिसके कारण यह गर्भावस्था के दौरान ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। 
  • फाइबर से भरपूर होने के कारण, यह पेट की समस्याओ को भी दूर रखता है। यह पाचन तंत्र को मजबूत रखने में सहायक है। 
    आयरन होने के कारण ये एनीमिया होने के खतरे से भी बचाता है।  
  • शिशु की हड्डियों एवं मस्तिष्क के विकास में भी सहायक होता है, क्योंकि इसमें फोलेट, कैल्शियम एवं विटामिन बी सिक्स पाया जाता है। 
  • गर्भावस्था के दौरान होने वाली शुगर से भी बचाता है। 
  • डाइटरी फाइबर होने के कारण कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है। 
  • विटामिन बी सिक्स से भरपूर होने के कारण गर्भावस्था के दौरान होने वाली मॉर्निंग सिकनेस को भी कम करता है। 

    कितना और कब अमरूद खाये 
    अधिकतर फल ठंडे होते है एवं फलों का सेवन कदाचित रात में नहीं करना चाहिए।  
    एक दिन में लगभग 100 से 125 ग्राम ही अमरूद लेना चाहिए। इससे अधिक अमरूद खाने से आपको कुछ जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। 

    क्या अमरूद खाने के कुछ नुकसान भी हैं? 
    मात्रा से अधिक कोई भी चीज हानिकारक होती है। उसकी प्रकार अधिक अमरूद खाने से निम्न नुकसान हो सकता है 
  • पेट में मरोड़ एवं दर्द 
  • इसके अतिरिक्त बिना धुला अमरूद खाने से आपको बीमारियां भी हो सकती हैं 
    कच्चा अमरूद आपके दातों एवं पेट दोनो के लिया हानिकारक हो सकता है।